शेयर करें
गोपाल मणि जी

1947 में जब से अंग्रेज गये और चमचो को देश की व्यवस्था सौंप गए तब से अब तक हिन्दू सनातन संस्कृति की रीड , भारतीय जन जन की माँ गौ माता के लिए 2 बार बड़े आन्दोलन हुए..

1 जो करपात्री जी महाराज जी ने किया था जिसमें इंदिरा गाँधी ने गोलियां चलवाई थी और सैंकड़ो गौभक्तों को वीरगति प्राप्त हुई थी..

और दूसरा जिसके हम सब लोग स्वयम साक्षी बने..

28 फरवरी २०१६ को दिल्ली के ऐतिहासिक रामलीला मैदान में परम श्रद्धेय स्वामी गोपाल मणि जी महाराज द्वारा जिसमे लाखो (करीब 5-6 लाख) गौ भक्तों ने भाग लिया..

देश भर से लोग बड़ी संख्या में रामलीला मैदान पहुंचे..

सभी संतो ने अपनी अपनी मांग राखी और गाय माता के लाभ बताये (धार्मिक आध्यात्मिक और प्राकृतिक)

स्वामी जी ने 2 मिनट का समय हमें भी दिया गाय माता का आर्थिक पक्ष रखने को (cow Economics)

1 गाय से प्रति वर्ष 12 – 16 लाख करोड़ रूपये कमा सकता है भारत …

पेट्रोल गैस और खाद (उर्वरक) में भारत प्रति वर्ष खर्च करता है 4 लाख 16 हजार 500 करोड़ वो भी विदेशों से महंगे दामो पर ..

भारत पूरी तरह से स्वावलंबी हो सकता है ….

75000 करोड़ रूपये खर्च करके भारत 5 लाख करोड़ रूपये प्रति वर्ष गौ माता से कमा सकता है..

जल्दी ही इसका पूरा detail में आर्थिक विश्लेषण आपके सामने प्रस्तुत करूँगा …

VID-20160301-WA0047

IMG-20160228-WA0006IMG-20160229-WA0096
IMG-20160228-WA0011 IMG-20160228-WA0013 IMG-20160228-WA0037 IMG-20160228-WA0038
IMG-20160229-WA0150 IMG-20160229-WA0151 IMG-20160229-WA0156 IMG-20160229-WA0157 IMG-20160229-WA0167 IMG-20160229-WA0168 IMG-20160229-WA0179 IMG-20160229-WA0180 IMG-20160229-WA0193 IMG-20160229-WA0194 IMG-20160229-WA0195 IMG-20160229-WA0196 IMG-20160229-WA0197 IMG-20160229-WA0198 IMG-20160229-WA0199 IMG-20160229-WA0200 IMG-20160229-WA0201 IMG-20160229-WA0205

IMG-20160301-WA0023

 

Also Read:  गौरक्षा करनी है तो सरल है उपाय

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें