शेयर करें
जैन भी मैं हूँ
सिख भी मैं हूँ
बुद्ध भी मैं हूँ
हिन्दू भी मैं ही हूँ
मैं सनातन धर्म हूँ
मैं ही वैश्य
मैं ही शुद्र
मैं ही ब्राह्मण
मैं ही क्षत्रिय
मैं सनातन धर्म हूँ
मैं ही जाट
मैं ही गुज्जर
मैं ही बनिया
मैं सनातन धर्म हूँ
मेरे इस सनातन धर्म के खिलाफ 1000 सालों से कभी मुस्लिम कभी इसाई जैसे अधर्मों ने एक मुहीम छेड़ राखी है, मेरे टुकड़े करने की, मुझे खत्म करने की।
जब कोई अधर्मी तुम्हे मारता है चाहे असम हो , चाहे केरल, चाहे मुज्जफरनगर, चाहे जम्मू तब वो तुम्हारी जात नही देखता बल्कि वो सिर्फ ये देखता है की क्या तुम सनातन / हिन्दू धर्मी हो। 
आज के इस युग में 2014 का चुनाव में अगर हम सब वापस एक बड़े लक्ष्य भारत समृधि जन समृधि के लिए एकमत होकर मोदी जी को वोट दें तो हम सनातन धर्म को पुनर्स्थापित कर सकते हैं। जो टूट गए हैं उन्हें जोड़ सकते हैं। जो खुस गए हैं उन्हें निकाल सकते हैं। जो दीमक है उसका इलाज कर सकते हैं। 
धर्म की रक्षा ही सबसे बड़ा धर्म है। 
इस धर्म की रक्षा के लिए ही भगवन विष्णु ने अनेकों अवतार लिए जैसे राम, कृष्ण। 
क्या हम को अपने धर्म की रक्षा नही करनी चाहिए ? 
मोदी जी शायद भगवान के भेजे हुए अर्जुन हों क्यूंकि कृष्ण जी ने भी अर्जुन से ही युद्ध लडवाया था। 
नो जाट नो गुज्जर नो सिख नो जैन नो बुद्ध नो बनिया नो पंडित।
only सनातन धर्म
धर्म युद्ध 2014 
मोदी जी को ही वोट दें
कमल का निशान भाजपा।
धर्म हित व् भारत हित में जारी
नमो नमो
Also Read:  Galileo ko faansi kyun hui ??

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें