भारतीय चिकित्सा पद्दति आयुर्वेद

भारतीय चिकित्सा पद्दति आयुर्वेद

भारतीय चिकित्सा पद्दति आयुर्वेद (आयु + वेद ) विश्व की प्राचीनतम चिकित्सा प्रणालियों में से एक है।

यह अथर्ववेद का उपवेद है। यह विज्ञान, कला और दर्शन का मिश्रण है।

नाम का अर्थ है, ‘जीवन का ज्ञान’ और यही संक्षेप में इसका सार है।

हिताहितं सुखं दुःखमायुस्तस्य हिताहितम्।

मानं च तच्च यत्रोक्तमायुर्वेदः स उच्यते॥ -(चरक संहिता १/४०)

(अर्थात जिस ग्रंथ में - हित आयु (जीवन के अनुकूल), अहित आयु' (जीवन के प्रतिकूल), सुख आयु (स्वस्थ जीवन), एवं दुःखआयु (रोग अवस्था) ) आयुर्वेद और आयुर्विज्ञान दोनों ही चिकित्साशास्त्र हैं परन्तु व्यवहार में चिकित्साशास्त्र के प्राचीन भारतीय ढंग को आयुर्वेद कहते हैं और ऐलोपैथिक प्रणाली (जनता की भाषा में "डाक्टरी') को आयुर्विज्ञान का नाम दिया जाता है।
परिभाषा एवं व्याख्या
यह विश्व में विद्यमान वह साहित्य है, जिसके अध्ययन पश्चात हम अपने ही जीवन शैली का विश्लेषण कर सकते है।
  • (1) आयुर्वेदयति बोधयति इति आयुर्वेदः। अर्थात जो शास्त्र (विज्ञान) आयु (जीवन) का ज्ञान कराता है उसे AYURVED कहते हैं।

STAY CONNECTED

3,694फैंसलाइक करें
0फॉलोवरफॉलो करें