शेयर करें

70th वर्षगाँठ हिरोशिमा पर एटम बम गिराने की।

कौन उग्रवादी संगठन था उसके पीछे ?

वही जो आज के उग्रवादी संगठनो और देशो को बम बारूद हथियार दे रहा है और बदले में तेल ले रहा है।

विकसित देश अमेरिका इंग्लॅण्ड यूरोप के कई देश इसी धंधे से अपनी इकॉनमी चलाते आ रहे हैं।
जरा सोचिये की उग्रवादी को हथियार बनाने के लिए सामान तकनीक और पैसा कहाँ से आता है ।

तेल से पैसा
अमरीका जैसे दोगले देशो से तकनीक और सामान

पैसे को रोक दे यानि तेल को खरीदना बन्द कर दें तो यह सिस्टम आपने आप बंद हो जायेगा।
तेल की जगह गोबर गैस से देश की सारी गाड़ियां चलायी जाएँ।

सारे गाँव में गोबर है लेकिन बिजली व् गैस नही।

जबकि गोबर से
गोबर गैस
गोबर गैस से बिजली
रसोई गैस
व् गाडी में गैस cyclinder लगाकर काम किया जा सकता है।

न देश को पेट्रोल की जरूरत न ही डीजल की।
न कोई गैस को विदेशो से लेने की जरूरत।

स्वावलंबी भी बनेगा भारत और आतंकवाद की जड़ भी कटेगी।

आप क्या कहते हो ??

Also Read:  यासीन मालिक jklf और हाफिज सईद

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें