हिन्दू नव वर्ष को जानिए

हिन्दू नव वर्ष को जानिए

345
0
SHARE
Hindu_calendar_1871-72

नव वर्ष जिसमे सब कुछ लगभग नव यानि नया होता है..

प्रकृति में सभी वृक्ष नये पत्तों को धारण करते हैं.. और भी अति वैज्ञानिक पक्ष की ज्ञानपूर्ण बातें हैं जो आपको जाननी चाहियें.

Hindu_calendar_1871-72

भगवान राम जी का जन्म किस अंग्रेजी तिथि को आता है हर वर्ष ?? कोई फिक्स दिन है क्या ??

अच्छा भगवान श्री कृष्ण जी का आता होगा कोई फिक्स दिन को ?? बताइए तो ..

होली

दीपावली

नवरात्रे

दशहरा

राखी

कोई भी फिक्स दिन नहीं है अंग्रेजी केलिन्डर में ?? ऐसा क्यूँ कभी सोचा है ?

चलो ये बताओ

क्रिसमस की कोई फिक्स दिन है ? है न 25 दिसम्बर .. तो वो ईसाईयों के भगवान थे और इसाई केलिन्डर में फिक्स दिन है उनका.. तो इसलिए इसाई लोग अपना इसाई (gregorian) केलिन्डर मानते हैं.. इसलिए ही उनके सभी त्यौहार जो की गिनती के हैं वो सब इसाई केलिन्डर में फिक्स दिन को हर वर्ष आते हैं..

और आपका जन्मदिन ?? वो भी फिक्स है क्या इसाई केलिन्डर में ?? लेकिन आप इसाई हो या हिन्दू ?

हिन्दू भगवान के जन्मदिन या सारे त्यौहार हिन्दू केलिन्डर (पंचांग) से मनाते हो.. व्रत इत्यादि, अमावस्या पूर्णिमा सब हिन्दू तिथि से लेकिन जन्मदिन, नव वर्ष ये सब अंग्रेजी (जिन्होंने तुम्हे गुलाम बनाया)…

जानते हो इस अंग्रेजी केलिन्डर के बारे में कुछ या बस भेडचाल में चले जा रहे हो भेड बकरी की तरह..

बारह महीने का एक वर्ष और सात दिन का एक सप्ताह रखने का प्रचलन विक्रम संवत से ही शुरू हुआ | महीने का हिसाब सूर्यचंद्रमा की गति पर रखा जाता है | यह बारह राशियाँ बारह सौर मास हैं | जिस दिन सूर्य जिस राशि में प्रवेश करता है उसी दिन की संक्रांति होती है | पूर्णिमा के दिन, चंद्रमा जिस नक्षत्र में होता है | उसी आधार पर महीनों का नामकरण हुआ है | चंद्र वर्ष सौर वर्ष से 11 दिन 3 घाटी 48 पल छोटा है | इसीलिए हर 3 वर्ष में इसमें 1 महीना जोड़ दिया जाता है |

Also Read:  नाड़ी परीक्षण.........

यह चैत्र नवरात्रि के प्रथम दिन से शुरू होता है। वर्ष २०१३ (इसा) में यह १1 अप्रैल को शुरु हुआ।

 

हमारे यह तीनो पोस्ट अवश्य पढ़ें… आपको आज ऐसे ऐसे सवालों के जवाब मिलेंगे जिनका जवाब आपके बच्चों की स्कूल की प्रिंसिपल के पास भी नहीं है…

http://wp.me/p7cxpA-m   नव वर्ष 1 जनवरी का सत्य

http://wp.me/p7cxpA-l  World Fool Day 1st January

http://wp.me/p7cxpA-1t  नया साल किसने बनाया और कैसे ?

 

और हाँ अंत में

सनातन धर्म व् हिन्दू संस्कृति के नव वर्ष विक्रम सम्वत २०७३ की बहुत बहुत शुभकामनाएं.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY