सच्चे स्वराज की रुपरेखा २

सच्चे स्वराज की रुपरेखा २

232
0
SHARE

 

 

भाई राजीव दीक्षित जी के विचार. (अर्थव्यवस्था का स्वदेशी करण, रूपये का पुनः मूल्यांकन अन्तराष्ट्रीय बाज़ार में, काला धन)

राष्ट्रीय मुद्दे जिन पर हम सबको मिलकर जानना चाहिए, फिर इन पर बात करनी चाहिए. फिर जो निष्कर्ष निकले उसको सबकी सहमति से देश के नीति निर्धारकों तक पहुँचाना चाहिए. तब हम कह सकते हैं की हमारा देश हमारे हाथ में है. स्वराज सही अर्थों में आ गया है.

देश की जनता जागरूक हो, समझदार हो, और नीति बनाने में भागीदारी होगी तब जाकर भारत विश्व में अपना स्थान बना सकता है.

कृपया पहले नीचे दिए गए चित्रों को पूरा पढ़ें. उसके बाद संवाद करने के लिए नीचे कमेंट करें.

आप हमारे साथ सीधे whatsapp में भी चर्चा के लिए जुड़ सकते हैं. +91 9560723234 नवनीत सिंघल

सच्चे स्वराज की रूपरेखा SaccheSwarajKiRooprekha_text-page-012 सच्चे स्वराज की रूपरेखा SaccheSwarajKiRooprekha_text-page-013 सच्चे स्वराज की रूपरेखा SaccheSwarajKiRooprekha_text-page-014 सच्चे स्वराज की रूपरेखा SaccheSwarajKiRooprekha_text-page-015

Also Read:  विकास की परिभाषा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY