रुपया डॉलर बराबर करना है तो सरल है उपाय

    5877
    1
    SHARE

    रुपया डॉलर

    दोस्तों क्या आप जानते हो विश्व में सबसे महंगी मुद्रा किस देश की है ? और क्यूँ वो सबसे महंगी है ?

    वैसे तो सबकी मुद्रा अपने देश में एक समान ही रहती है, लेकिन उस मुद्रा को दुसरे देश में चलाने के लिए एक्सचेंज रेट यानि विनिमय दर से अदला बदली की जाती है.

    किसने की यह विनिमय दर तय और किस आधार पर ?

     

    चलो थोडा हिंट दे देते हैं

    जिवन के लिए सबसे जरूरी है भोजन हवा और पानी (हवा तो सब जगह मिलती है, भोजन हर जगह नहीं मिलता, पानी भी हर जगह नहीं मिलता).

    बाकी सब वस्तुएं जैसे तेल , गैस , बम , बारूद, हथियार यह सब मूल हैं क्या ?

    तेल और गैस तो प्राकृतिक सम्पदा में आ गए और उसके बिना जीवन सम्भव है लेकिन क्या भोजन और पानी के बिना जीवन सम्भव है ? अगर नहीं तो दो देश के व्यापर में जो देश भोजन और पानी दुसरे देशों को देता होगा उसकी मुद्रा सबसे महंगी होगी.. सही है या गलत ?

    लेकिन ऐसा है नहीं. ऐसा होना चाहिए यह बात हमें भी समझ आती है. लेकिन अपने हितों को साधने के लिए दुसरे देश इसका उल्टा ही करते आयें हैं .

     

    अब इसका सरल उपाय क्या है ?

    बहुत ही सरल है

    भारत और उस जैसे देश जो भोजन और पानी एक्सपोर्ट करते हैं उन्हें तुरंत एक्सपोर्ट पर रोक लगा देनी चाहिए. नतीजा जिन देशो को यह भोजन पानी मिलता था उनको यह मिलना बंद हो जायेगा. फिर वे जीकर दिखाएं की कैसे वो जियेंगे. अगर वो तेल गैस बम बारूद खापीकर जीवित रह सकें तो बहुत सुंदर अन्यथा उन्हें हमारे पास आना ही होगा

    Also Read:  गांधी की हत्या नेहरु ने करवाई थी

    तब हम कहेंगे की आपने जो शोषण अभी तक किया उसके लिए क्षमा मांगिये

    और हम आपका कोई शोषण नहीं करना चाहते इसलिए सम्पूर्ण विश्व में एक ही मुद्रा चलेगी. सभी देशों की विनिमय मुद्रा की एक ही समान दर होगी यानि सब मुद्राएं बराबर मान्य.

    नतीजा जिन देशो को मुद्रा के आधार पर लूट रहे थे चंद देश वो सभी देश अपने कर्ज अपनी मुद्रा में लौटा पायेंगे और भविष्य में उनके प्राकृतिक संसाधनों की लूट बंद हो जाएगी .

     

    आज जब भारत से कोई चीज विदेश जाती है तो उसको 70 गुना निचे भाव मिलता है डॉलर में

    और जब हम अमरीका से कोई समान भारत में लाते हैं तो 70 गुना ज्यादा भाव देते हैं उसकी असल कीमत से

    यह है आज की आर्थिक लूट का सिस्टम

    जिसमे न तलवार न बंदूक का हुआ उपयोग

    और हो गयी डकैती और आपने कोई शिकायत भी नहीं की …

    यह है आज की modern colonisation सिस्टम

     

    भारत का रुपया लगातार गिराया गया आज़ादी से. 65 वर्ष में 65 गुना गिरा …

     

    हमारी पिछली पोस्ट पढने के लिए

    http://wp.me/p7cxpA-X  भारत के रूपये का पुनर्मूल्यांकन

    http://wp.me/p7cxpA-G8  Indian rupee since 1947-Mani Agarwal Dixit

    1 COMMENT

    LEAVE A REPLY