पानी से चलने वाली गाडी

पानी से चलने वाली गाडी

1141
0
SHARE
चंडीगढ़। पेट्रोल के दाम कम हो रहे हैं पर कितना अच्छा हो कि आपको अपनी बाइक चलाने के लिए पेट्रोल की जरूरत ही न पड़े। आपकी बाइक पानी से ही चल पड़े। ये बात बेशक सुनने में अटपटी लगे, लेकिन ये संभव कर दिखाया है 10वीं क्लास के एक स्टूडेंट ने। गवर्नमेंट मॉडल स्कूल सेक्टर-22 के दसवीं क्लास के नित्यआशीष ने अपने फिजिक्स के टीचर अजय गुप्ता की गाइडेंस में बाइक के लिए ऐसी किट तैयार की है। 42वीं स्टेट लेवल एग्जीबिशन में नित्य ने इस बाइक किट का प्रदर्शन किया।


पानी से बाइक चलाने के मॉडल को पेश किया गया।

नित्य ने बताया कि उसने एक आम बाइक पर पानी की एक किट फिट की है। इसमें पानी डालने पर एचएचओ सेल में जाएगा। वहां पर इलेक्ट्रोलाइसिज होगी। इलेक्ट्रोलाइसिज करने के बाद ऑक्सीजन गैस बनती है वो गैस इंजन को चलाती है। जहां दूसरी बाइक में पेट्रोल के बाद जब धुआं निकलता है, वहीं इस बाइक में पानी निकलेगा और वह सायलेंसर में से निकल जाएगा। इस हिसाब से यह वातावरण को प्रदूषित होने से भी बचाएगा। यह किट तैयार करने में नित्य को मात्र 1900 रुपए और तीन सप्ताह लगे हैं। इससे बाइक की स्पीड 50 किलोमीटर तक जा सकती है। किट में अगर 2 लीटर खारा पानी डाला जाता है तो बाइक 500 लीटर चल सकेगी और 2 लीटर डिस्ट्रल वाटर डालने पर बाइक 200 किलोमीटर चलेगी।

किट में पानी खत्म होने पर आपको सिर्फ पानी ही बदलना पड़ेगा। किट में 2 लीटर से ज्यादा पानी नहीं आ सकता। नित्य ने इससे पहले सोलर एयर कंडीशन तैयार किया था। इसकी स्टेट लेवल पर टॉप फाइव में सिलेक्शन हुई थी और नेशनल में नंबर वन पर रहा था। मॉडल बनाने में नित्य की मदद स्टूडेंट रुचिका ने भी की।

Also Read:  भारतीय ट्रैफिक व्यवस्था का उपाय हो गया

ये रहे थीम

कम्युनिटी हेल्थ एंड एंवायरमेंट, लैंडमार्क इन सांइस एंड मैथ, इंर्फोमेशन एंड कम्युनिकेशन, एनर्जी रिसोर्स एंड कंजर्वेशन, ट्रांसपोर्ट वेस्ट मैनेजमेंट

मेरा मॉडल भीग न जाए

स्टेट लेवल सांइस एग्जीबिशन में कई दिनों की मेहनत से तैयार किए गए मॉडल्स स्टूडेंट्स ने बुधवार को सेक्टर-32 में डिस्पले किए थे, लेकिन अचानक बारिश आने से स्टूडेंट्स ने अपने मॉडल्स को बारिश से बचाने के लिए प्लास्टिक शीट्स से ढक दिया। वहीं कुछ स्टूडेंट्स ने छाते से अपने मॉडल्स को ढक दिया।

इससे पहले साेलर एयर कंडिश्नर तैयार कर चुका है नित्य

एनसीईआरटी के सहयोग से स्टेट कांउसिल ऑफ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग सेक्टर-32 में बुधवार को 42वीं स्टेट लेवल साइंस मैथ एंड एन्वायर्नमेंट प्रदर्शनी 2015 का आयोजन किया गया। इस प्रदर्शनी का उद्घाटन पर्यावरण के डायरेक्टर संतोष कुमार ने किया। इस प्रदर्शनी में शहर के गवर्नमेंट और प्राइवेट लगभग 86 स्कूलों के स्टूडेंट्स ने 161 मॉडल पेश किए। प्रदर्शनी में स्टूडेंट्स के साथ टीचर्स और प्रिंसिपल भी पंहुचे। इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर सुरेंद्र दहिया ने बताया कि एग्जिबिशन का पहला लेवल नवंबर 2014 में 25 से 28 तक हुआ था, जिसमें 594 माॅडल्स पेश किए गए थे। इस फाइनल लेवल में 161 मॉडल्स हैं। चार दिवसीय ये प्रदर्शनी 15 और 16 जनवरी को ओपन फॉर ऑल है। इसमें स्टूडेंट्स और उनके पेरेंट्स भी आ सकते है और प्रदर्शनी का समय सुबह 9.30 से दोपहर 3.30 बजे तक रहेगा।

72 स्टूडेंट्स होंगे विजेता : 17 जनवरी को 161 में से 72 मॉडल्स को सिलेक्ट किया जाएगा। इनमें से केटेगरी के हिसाब से पहले दूसरे और तीसरे स्थान पर रहने वालों को 5100, 3100, 2100 रुपए के नकद पुरस्कार से नवाजा जाएगा। वहीं 5 स्कूलों को ओवरऑल ट्राॅफी दी जाएगी। स्टेट लेवल की प्रदर्शनी है जिसमें स्टूडेंट्स ने अपने साइंस और मैथ के मॉडल्स को टीचर्स और टीम की हेल्प से तैयार करके पेश किया है। ये कार्यक्रम 11.30 बजे होगा।


Also Read:  भारत और FDI

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY