पतंजलि योगग्राम प्राकृतिक चिकित्सा व् Recipe

पतंजलि योगग्राम प्राकृतिक चिकित्सा व् Recipe

2366
4
SHARE
Yog Gram Navneet with Dr Nagender Neeraj Ji
Yog Gram Navneet with Dr Nagender Neeraj Ji
Yog Gram Navneet with Dr Nagender Neeraj Ji

मैंने diabetes जैसी गंभीर बीमारी को बिना किसी 1 भी गोली या दवाई खाए, diabetes को अपनी जिन्दगी से समाप्त कर दिया.. कैसे ??

अपने आहार को ठीक करके

अपनी दिनचर्या में yog, सैर व् परिश्रम को जोड़कर..

खूब मीठा खाता हूँ लेकिन चीनी निर्मित नहीं क्यूंकि diabetes चीनी की ही देन है, गुड खाइए)

 

मैं ऐसा कर पाया क्यूंकि मुझे डॉ नीरज जी जैसे अच्छे इंसान मिले, patanjali yog ग्राम में.

Dr Nagender Neeraj Ji

 

Yog Gram Map
Yog Gram Map
Yog Gram Dr Neeraj Books
Yog Gram Dr Neeraj Books

पतंजली योग ग्राम एक ऐसा केंद्र जहाँ किसी भी रोग को प्राकृतिक चिकित्सा द्वारा जड से समाप्त किया जाता है.

कोई भी रोग होने के मूल कारण क्या हैं ?

1 आहार यानि भोजन (जो विषेला है, या न खाने योग्य है) जैसे चीनी, मैदा (बताने की शायद आवश्यकता नही की शहरी लोग लगभग हर चीज में मैदा या चीनी का भोग लगा रहें हैं..

2 श्रम का अभाव (शारीरिक श्रम करना तो जैसे गरीबों का काम है, मानसिक श्रम को ज्यादा इज्जत दी जा रही है)

 

आजकल की नकली विकास (असल में विनाश) की दुनिया में सब कुछ उल्टा हो रहा है.

जो लोगों को खाना चाहिए, वो खाते नहीं

और जो खाना नहीं चाहिए वो अवश्य खाते हैं..

हमने अपने पेट को dustbin बना कर रख दिया है. नतीजा हम सबके सामने हैं..

हमने वैसे तो बहुत कुछ सिखा yog ग्राम में लेकिन सबसे अच्छी बात अगर कोई है जो सबको सिखाने से हम लोगों की सेहत और आदत सुधार सकते हैं तो वो है वहां के भोजन बनाने की कला ..

आज हम आपके सामने रखेंगे ऐसे टिप्स जो आपको भोजन बनाना सिखायेंगे.. न सिर्फ पौष्टिक, उर्जा वर्धक बल्कि स्वादिष्ट भी …

Also Read:  भारत के त्यौहार ही भारत को जोड़ते हैं

 

यह हमने yog ग्राम के मुख्य chef राजेंदर जी से मंगलवार की कक्षा में सिखा है..

Yog Gram Chef Rajender Ji
Yog Gram Chef Rajender Ji
Yog Gram Chef Rajender ji with Navneet
Yog Gram Chef Rajender ji with Navneet

सब्जी बनाने की विधि..

  • कोई भी सब्जी जैसे लौकी लीजिये. उसको बिना काटे बिना छिलका उतारे पहले सादे पानी से अच्छे से धोएं.
  • फिर उसको हल्के गर्म नमकीन पानी से धोएं
  • फिर उसको सेंधा नमक के हल्के गर्म पानी में डुबोकर रखें जिससे की उसके ऊपर लगे यूरिया अन्य जहर साफ़ हो जाएँ ..
  • फिर छिलका समेत काटें. अब धोना बिलकुल नहीं.
  • अब 2 ग्राम प्रति व्यक्ति (चाय की छोटी चमच) जितना तेल या घी लीजिये
  • लाल मिर्च या मसाले कोई नहीं लेने.
  • 1 मसाला बना लें जिसमे 1/2 चमचा हिंग, और 1 चमचा ये सभी ( जीरा, राइ, मेथी, सौंफ, अजवायन, सुखा धनिया).
  • इस मसाले को तेल या घी जो भी आपने लिया है उसमे हल्का भुन लें.
  • इसके बाद हल्दी और नमक डालें.
  • फिर सब्जी डालकर उबालें और हल्की आंच पर उसे अच्छे से पकने दें. (भांप को उड़ने न दें)
  • पकाने के बाद, टमाटर लीजिये (ग्राइंड किये हुए या छोटे छोटे टुकड़े) उनको डालें और 10 मिनट तक पका लें.
  • इसके बाद में धनिया ताजा, जीरा पाउडर डाल दो.
  • हो गयी सब्जी तैयार

लाल मिर्च, तेल, टमाटर एक साथ नहीं भूनना चाहिए.. बहुत खतरनाक विष बनता है.. शरीर में अन्दर चिपक जाता है. टमाटर कभी भी तेल में न पकायें.

लौकी,  घिया, टोरी, परवल, कटहल, कद्दू, टिंडा,

प्याज टमाटर तेल लाल मिर्च से बचें..

 

केले की सब्जी या आलू की सब्जी 

आलू की तरह, boiled करलें, फिर छिल लें, काट कर छौंक लगा लें. फिर उसमे 3-4 टमाटर मिक्सी में पिस कर उसमे डाल देन. बहुत स्वादिष्ट और पौष्टिक बनेगी.

 

रात का भोजन

दलिया, खिचड़ी, सूप, सब्जी (रोटी न ही खाएं तो अच्छा), चावल रात को कभी नहीं खाएं, सलाद खा लो, फ्रूट खा लो..

 

कुछ मूल नियम 

खाऊ या न खाऊ  मत खाना

पियू या न पियु  अवश्य पियो

जाऊ या न जाऊ  अवश्य जाओ

 

चटनी बनाओ कैसे

चटनी खाने के लिए नहीं होती, चाटने के लिए होती है. थोड़ी सी..

धनिया

पुदीना

टमाटर

खीरा

अदरक

हरी मिर्च

प्याज लहसुन (अगर खाते हो तो डाल लीजिये, हम नहीं डालते)

कच्चा आम

साबुत जीरा

1-2 चमच साबुत सौंफ

साबुत धनिया भी

नमक डाल दो

फिर इसको मिक्सी में पिस लो

अगर आपने इसमें आम या टमाटर नहीं डाला हो तो

1-2 निम्बू निचोड़ लें ताकि वो खट्टा हो जाए

उसमे 1-2 चमच धी भी डाल सकते हैं (दही से मिर्च तेज होगी तो कम हो जाएगी)

उसमे मूंगफली डाल सकते हो,

अंकुरित दाल डाल सकते हो. (अंकुरित चने, मुंग, मसूर) प्रोटीन से भरपूर हैं ये.

सलाद ले लो, 1 कटोरी में चटनी ले लो, 1-2 ग्लास छाछ पि लो, चाहो तो 2 रोटी खा जाओ.. गर्मी में सबसे बढ़िया..

चटनी न फ्राई हुई, न आयल है न कुछ..

दाल का सूप बनाकर पीजिये.. पेट भी भरेगा और ताकत भी आएगी.

 

सोयाबीन की दही

100 ग्राम सोयाबीन दाना

1 लीटर पानी में रात को भिगो दें

सुबह उसको रगड़ रगड़ कर पानी निकाल दें और फेंक दें. (सोयबीन रखो)

फिर उसमे 3 गिलास पानी मिलाएं, अब सोयाबीन को पिसें इसी पानी में

फिर अच्छे से छान लें, एक भी रेशा न रहने पाए अन्यथा दूध फट जायेगा

फिर जो उसका दूध है इसको उबाल लें

उबाल कर ठंडा कर लो फिर जैसे दही जमाते हैं वैसे ही जमाएं

4 घंटे में जम जायेगा

छाछ बनाओ, लस्सी बनाओ

भुना हुआ जीरा, काला नमक डालकर खाओ पियो

छाछ मतलब छना हुआ यानी पतला

छाछ ज्यादा पीनी चाहिए, लस्सी कम, कढ़ी बनाओ..

 

सोयाबीन की पल्प (जो दूध निकलने के बाद बचा) की वडिया बना सकते हैं

चने का आटा मिलाओ, अजवायन, हिंग ये सब मिक्स करके छोटी छोटी वडिया बनाइए

धुप में सुखा दो

फिर तेल डालकर भुन लो, फिर टमाटर डाल दो, बहुत अच्छी सब्जी बन जाएगी

 

ड्राई फ्रूट्स भीगा हुआ खाना चाहिए 

उनका पानी कभी नहीं फेकना चाहिए

उर्जा और शक्ति के लिए मुनक्का का पानी पियें (रात के भीगे हुए मुन्नका), कोई टॉनिक की जरूरत नहीं पड़ेगी

अंजीर का पानी पेट साफ़ करता है

कुछ और recipe बनाने की विधि निचे 2 चित्रों में दी गयी है …

Yog Gram Recipe 2 Yog Gram Recipe 1

 

 

YOG GRAM.

Yog-Naturopathy-Panchkarma Treatment & Research Centre Near Vill-Aurangabad, SIDCUL, Haridwar, Uttarakhand (India).

Help Line No:- 01334-283522, 283523.

Contact time 9:00 AM to 5:00 PM (According To IST).

E-mail: yoggram@divyayoga.com

http://yoggram.divyayoga.com/

 

4 COMMENTS

  1. Jai Shri Ram Navneet Bhai,
    Mujhe complete sugar free ( diabities mukat ) hone me kitana samay lagega, matlab kitae dino ka upwas rakhana padega aur ek baar yah vrat khatam karke kya khana pina hoga?

    • जय राम जी की भाई जी.

      भाई जी जितनी पुराणी बीमारी होगी उतना समय ज्यादा लगेगा..

      लेकिन इसका अर्थ यह नहीं की आप लगातार लम्बे उपवास करें..

      आप बिच में ब्रेक लेकर भी कर सकते हैं..

      लेकिन अब जीवन जीने का ज्ञान यदि प्राप्त हो गया हो तो कृपया उसी तरह जीवन जियें.. अच्छा खाएं व् निरोगी रहें..

LEAVE A REPLY