क्या भारत आज भी गुलाम है ??

    1186
    0
    SHARE
    केंद्र में है नरेंद्र मोदी की सरकार 
    दिल्ली में है केजरीवाल की सरकार 
    यह मुद्दा है राष्ट्र भारत की इज्जत का 
    देखते हैं इन दोनों में से किसकी आत्मा जगती है …
    दिल्ली के बीचो बिच बन रहा है अंग्रेजो का पार्क जिसमे करोड़ो रूपये खर्च किये जा रहे हैं.. 
    इस पार्क में कभी अंग्रेजी राजा का राज्याभिषेक हुआ था..
    उसी राज्याभिषेक की याद में आज एके आज़ाद भारत में बनाई जा रही है यह गुलामी की निशानी .. किसके पैसे से ?? भारत के उन लोगों के टैक्स के पैसे से जिनपर इन अंग्रेजो ने अत्याचार किया …. 
    यह लेख 11 अगस्त 2015 को लिखा गया था, आज इसको फिर से जिवंत करके इस पार्क को बंद करवाके कुछ राष्ट्रिय उपयोग किया जाए..
    दोस्तों, जरा सोचिये 
     
    एक लुटेरा आपके घर में आये 
    आपकी बहु, बहन, बेटियों का बलात्कार करे
    आपके बेटों, भाइयों, पिता का क़त्ल करे
    आपके घर परिवार के लोगों को ग़ुलाम बनाये
    आपकी संपत्ति लुट कर अपने घर ले जाये 
    आपके घर में ज़बरदस्ती लम्बे समय तक रहे 
    फिर एक दिन वो आपको आपके घर की चाबी देकर अपने घर चला जाये 
     
    अब उसके जाने के बाद आप क्या ऐसा करोगे :-
    • जब उसने आपके घर पर कब्ज़ा किया था, आप उस दिन की याद में  और उस जगह पर एक यादगार स्थल बनायेंगे (Memorial). ?
    • आप उसकी और उसके अत्याचारी खूनी सिपाहियों की मूर्ति पर करोड़ों रूपये खरचेंगे और उन्हें पार्क में लगवायेगे ?
    • आप अपने घर का एक बड़ा हिस्सा इस काम के लिए खाली छोड़ेंगे ?
    अगर आप सब ये नही करेंगे तो जो ऐसा करेगा उसको आप क्या कहेंगे ??
     
    हम किसकी बात कर रहे हैं ?
     
    ये बात है अंग्रेजों की 









    ये बात है दिल्ली के गर्भ में बन रहे coronation Park की… 

     
    आजादी के ६५ वर्ष बीत जाने के बाद इस पार्क को बनवाया जा रहा है फिर से.. वो भी करोड़ों करोड़ों रूपये खर्च करके..  (55-60 एकड़ जमीन पर)
     
    2007 की तत्कालीन दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार एक हि पार्टी की थी (देश की महान पार्टी कांग्रेस) जिसके राज में, भारत की लूट अंग्रेजी राज़ से भी, 8 गुना तेजी से हुई. 
     
    कहते हैं की भारत को अंग्रेजों ने आज़ाद नहीं किया बल्कि गोरे  अंग्रेजों ने काले अंग्रेजों को सत्ता का हस्तांतरण किया  (Transfer of power agreement 1947).
     
    क्यूंकि ये कार्य तो कोई गुलाम सोच या गुलाम मानसिकता का व्यक्ति हि अपने मालिक की चाटुकारिता में कर सकता है. 
     

    आइये देखते हैं देश के टैक्स का पैसा ये महान मुर्ख गुलाम सोच वाले कैसे उड़ा रहे हैं गुलामी की निशानियों को संजोने में.  


    यह कोरोनेशन पार्क के मुख्य द्वार पर लगी भारत की गुलामी की प्रतिक है…


    ये जॉर्ज पंचम अंग्रेजी लुटेरों का राजा .. जिसकी ये मूर्ति पार्क में लगी है.. 60 फीट ऊँची मूर्ति..

    इसके साथ आज की मौजूद 4 और मूर्तियाँ 

    ये चार मूर्तियाँ उस लुटेरे अंग्रेज राजा के लुटेरे साथियों की हैं जिन्होंने हमारे घर में घुसकर वो सब शर्मनाक कृत्य किये जो इस लेख में सबसे ऊपर लिखें हैं. 

    पार्क के बीचों बिच स्थित है ये 

    Also Read:  नाड़ी परीक्षण.........
    इस जगह पर बड़ा बड़ा लिखा हुआ है 
    भारत का राजा 
    कौन कौन देशभक्त इस से सहमत है की वो भारत का राजा था ??? 
     
    पार्क का नक्शा 
    Legend: 1. Entrance 1; 2. Entrance 2, for VIP use during special events; 3. Garden terraces; 4. Proposed 1947 Plaza; 5. 1911 Gardens; 5a. Forest vista; 6. Commemmorative walls; 7. The King George V Garden; 8. The Ridge; 9. Wetland; 10. Existing vegetation; 11. The Bowl ; 12. Sports area; 13. Children’s playground; 14. Forest restaurant; 15. Car parking; 16. Bus parking.
     
    2007 -2008 फोटो of site 
     
    Mr. Menon, as head of the Delhi chapter of the (INTACH) Indian National Trust for Art and Cultural Heritage, has felt for some time that this state of wild neglect wasn’t fair to this moment of colonial history. As the centenary of the 1911 durbar approached, the trust revisited the idea, pointing out the plan’s practical side.
     

    मूर्खों देशद्रोही लोगों द्वारा दी गयी दलील इस पार्क को बनाने के लिए  “All the iconic parks are in south Delhi. North Delhi really does not have any, it’s been neglected,” he said. “So that idea then was accepted.”

     
    ये मूर्ति पहले इंडिया गेट पर थी, जहाँ से इसको 60 के दशक में हटाया गया ताकि मालिकों की मूर्ति को देशभक्त लोग नुक्सान न पहुंचा सके. 
     
    In the late ‘60s, the statue was removed and shifted to where it stands now, gazing stonily at the Coronation Pillar, which marks the spot where the king and queen sat in 1911. There was some talk in the 1990s of putting a statue of Mahatma Gandhi in its place at India Gate, but conservationists protested and the Delhi High Court forbade the move.
     
    Mr. Shaheer doesn’t plan to recreate that look in the park, and will leave the statue of George V where it presently stands, adding a garden around it. The other statues will be moved to four spots equidistant from the pillar, each hedged by commemorative walls. 
     
    The plan is to add lots of local trees to the 60-acre park, as well as walkways with decorative stone work and an artificial pond. There will also be a plaza, an amphitheater and a sunken bowl where cricket can still be played and there will be an “interpretation center” that will look at Indian history from 1857, including all three durbars, which in their time provoked articles, debates, rumors and a wide range of opinion, according to exhibit designer Siddhartha Chatterjee.
     

    मूर्खों के द्वारा दिया जाने वाला एक और महान विचार  At the park’s “1947 Plaza,” there will be a very, very tall flagpole, about 30 meters or 100 feet high. “That is going to soothe the heartburning of the Indians because that is going to have a flag that is going to be hoisted much higher than the Coronation Pillar,” said Savita Bhandari, the DDA’s additional commissioner for landscape, in an interview. According to engineers at the DDA, the flagpole will be approximately 10 meters taller than the pillar. “The flagpole will dominate,” said Mr. Menon. “It is going to be an Indian park; it’s not a celebration of imperialism. Imperial events took place here but the park itself is a park built by India in 2011.”

    यह पार्क कांग्रेस के राज में 2011 में हि पूरा हो जाना था लेकिन कांग्रेस के राज में दिन प्रतिदिन होने वाले घोटालों ने कांग्रेस की हिम्मत तोड़ दी होगी एक और आक्षेप झेल पाने की.
     
    2015 NEW DELHI: The redevelopment work in Coronation Park missed its third completion deadline earlier this week. The project’s initial deadline was December 2011 in keeping with the centenary of New Delhi as capital. DDA wants the text to be authenticated before it is engraved on the plaques. We suggested bringing in a group of historians for it and had a meeting a while ago. But we don’t know what the progress on that front is,” said an Intach Delhi official. Apart from the statue of King George V, the park also has statues of Lord Willingdon and Lord Hardinge-both viceroys of India. It’s not known how many statues were originally present at the park, but as of now, there are only seven, including a few busts.
     
    Commemorative Obelisk erected at the exact place where UK King George V and Queen Mary sat in Durbar of 1911, and declared the shifting of the capital of the British Raj fromCalcutta to Delhi
     
    Commemoration Plaque below the Obelisk that gives the exact date of the Delhi Durbar as 11 December 1911, declaring the Coronation celebrated in the United Kingdom on 22 June 1911
     

    Coronation Park is a park located on Burari Road near Nirankari Sarovar in Delhi, India. 

     
    The park is sometimes referred to as the Coronation Memorial; it was the venue of the Delhi Durbar of 1877 when UK Queen Victoria was proclaimed the Empress of India. Later it was used to celebrate the accession of UK King Edward VII in 1903, and, finally, it was here that the Durbarcommemorating the coronation of UK King George V as Emperor of India took place on 12 December 1911, subsequent to his coronation at Westminster Abbey in June 1911. This last celebration had all the princely states in attendance. The decision to hold the Coronation Durbars in Delhi at the vast open ground at Coronation Park was a move to emphasise Delhi’s history.
     
    The monument is now being restored.
     
    Also, Coronation Park, by a quirk of circumstances, has the largest and tallest statue of King George V, adorning as it does a lofty pedestal. The statue was moved here in the mid-1960s from a site opposite India Gate in the centre of New Delhi. 
     
    King George V’s statue was removed in the 1960s from the canopy opposite India Gate. It was relocated on a plinth in Coronation Park, directly opposite the Obelisk.
     
    आज जब हम इस पार्क को देखने गए तो हमारा माथा पूरी तरह ठनका की क्या भारत आज भी गुलाम है ?
     
    ये सवाल हम आप सबके निर्णय के लिए छोड़ते हैं की आप बताइए की इस कार्य को मुर्खता का कार्य कहा जाये या महानता का ?
     
    हम जानना चाहते हैं की इस पार्क को बनाकर सरकार क्या सन्देश देना चाहती है ?
    हम जानना चाहते हैं की इस पार्क पर लुटाया जाने वाला पैसा किस सरकार ने किस बजट में से दिया ?
    हम जानना चाहते हैं की इतने बड़े जमीन के टुकड़े का मालिक कौन है ?
    हम जानना चाहते हैं की देश के शहीदों के लिए दिल्ली में मेमोरियल की जगह न देने वाली सरकार को अंग्रेजी लुटेरों के मेमोरियल की जगह कैसे मिली ?
    हम जानना चाहते हैं की क्या भारत आज भी अंग्रेजों का गुलाम है ???
     
    RTI कार्यकर्तायों से अपील कृपया लगाओ RTI 
    देश के सो कॉल्ड क्रांतिकारी दिल्ली के मुख्यमंत्री से अपील “साबित करो अपनी देशभक्ति”
     
    भगत सिंह 
    सुखदेव
    राजगुरु
    इन की मूर्ति का पार्क बनाये केंद्र सरकार / दिल्ली सरकार.. 
    गुलामी की निशानियों को संजो कर रखने वाले जयचंदों को मिटटी में मिला देंगे राष्ट्रभक्त लोग.. 

    RTI registered on 16 March 2015.



    Respected govt officers,

    please provide me detailed info in Hindi language regarding the following questions on Coronation park situated in delhi:-

    1 Which govt gave orders to build, develop this park 
    2 How much expenditure is planned for this.
    3 How much actual expenditure has been incurred
    4 who has released funds and from where for this park.
    5 what is the complete work plan for this park
    6 who has authority to stop construction of this park
    7 whether any funds are recieved from any foreign country, specially UK.
    8 Give detail of entire funding of this project.
    9 Give govt base document on the basis of which this park was started for development.
    10 what is the motive of govt/ authorities invloved in making this park
    11 please provide as much detailed information and related information as much as possible ..

    please note information must be given in hindi language.

    I cant write hindi because your portal doesnt provide me option to write my mother language.

    जवाब आया है आज 12 अगस्त में …
     
     
    Also Read:  योगी जी को जाने

    NO COMMENTS

    LEAVE A REPLY