काला धन देश और विदेश सब बहार निकलेगा अगर ये करो तो...

काला धन देश और विदेश सब बहार निकलेगा अगर ये करो तो …

453
1
SHARE
हमारे देश की सरकार बदल गयी, उसने कुछ काम ऐसे कर भी दिए जो पिछली सरकार बिलकुल भी नहीं करती थी.. लेकिन क्या ये अभी भी देशहित वाली सरकार है ??
क्या जो हमने सोचकर सुनकर इसको वोट दिया था वो काम ये कर रही है ?

आप कहेंगे की ५ साल तो होने दो.. मैं भी सहमत हूँ की हाँ ५ साल होने दो.. लेकिन उस काम के लिए जो इन्होने शुरू नहीं किये…

लेकिन जो काम ये कह रहे थे चुनाव से पहले और अब साफ़ मुकर रहे हैं उस पर तो इनसे जवाबदेही मांग सकते हैं न हम या वो भी नहीं..

सबसे पहला सवाल :-
1 नेताजी सुभाष चन्द्र बॉस की हत्या की फाइल क्यूँ नहीं सार्वजानिक करेगी सरकार ???
२ काला धन देश और विदेश से तुरंत बाहर निकलेगा अगर सरकार ये करो तो … पहले तो सभी ५००-१००० के नोट वापिस बुला ले और नए नोट जारी करे.. इससे देश या विदेश में जहाँ पर भी नोट के रूप में धन पड़ा है वो बाहर आएगा और बैंक में जमा होगा, जो जमा नही होगा वो खत्म हो जायेगा.. दूसरा उपाय देश के बाहर जमा सारे धन को (चाहे गोरा धन या काला धन) उसको राष्ट्रिय संपती खोषित करके भारत में मंगवा लिया जाये तुरंत. उसके बाद जो भी क्लेम करे की वो गोरा धन है उसको साबित करने दिया जाये उसका गोरा धन, जो न कर पाए या जो न करना चाहे वो भूल जाये अपने काले धन को…

कम से कम देश का पैसा तो देश के पास आएगा.. और बाकी सब कार्यवाही तो होती रहेगी…

Also Read:  देशभक्ति गीत चन्दन है इस देश की माटी

ये साधारण से सुझाव अगर आप लोगों को समझ में आते हैं और हमको समझ में आते हैं तो इन नेताओ की समझ में क्यूँ नहीं आते ?? क्या ये खुद चोर हैं ?? येही शक जायेगा न अगर इनको हमारी साधारण सी बात समझ नहीं आती…

लगता नहीं है इन नेताओ की मंशा से की ये काला धन वापस लाना चाहते हैं ….

३ गौ हत्या या जिव हत्या बंद करवाने हेतु कोई कार्य नहीं, उल्टा सब्सिडी डी जा रही है, मशीनीकरण किया जा रहा है मांस बेचने वालों के लिए..

४ अर्थ्क्रंती टैक्स सिस्टम कहीं दूर दूर तक ये सोच हि नहीं लगती की ये टैक्स सिस्टम लागु होगा.. उल्टा इसके लोग अप्रैल माह से गायब से हो गए हैं … काला धन और भ्रस्ताचार को खत्म करने का उपाय देने वाले लोग गायब करवा दिए गए हैं …. ???

५ रुपया डोलर जब तक बराबर नहीं होंगे तब तक देश यूँ हि लुटता रहेगा.. FDI हर शेत्र में लागु हो रही है.. देश के पास पैसे की कमी नहीं, मोदी सरकार पर लोगों का भरोसा भी है तो क्यूँ नहीं जनता से पैसे मांगते हो ?? क्यूँ विदेशियो से भीख मांगने पर तुले हो ?? क्या है FDI मांगने के पीछे की पूरी सच्चाई ?? बताते क्यूँ नहीं की कितना पैसा खा रही है सरकार विदेशी कंपनियों से ???

और भी अनेको मुद्दे हैं, फिर लिखूंगा..

खुलकर चिंतन या बात करने के लिए मुझसे जुड़े HIKE MESSENGER APP पर या WHATSAPP  पर
९५६०७२३२३४

नवनीत सिंघल.

Also Read:  World Bank Exposed...Lawrence Summers leaked memo

1 COMMENT

  1. sarkar ko ye sab karne mai bahot time lag raha hai,q ki wo khus ess mai fasi hui hai..unke hi neta usmai fase huye hai..to unko bachane ke chakkar mai ye sarkar jaldi se jaldi desision nahi le paa rahi hai.or jab sab ho jayega.usske bad sarkar gir jayegi..fir jaisa he waisa hi ho jayega.navin sarkar ke navin rule chalu ho jayenge..aam aadmi esse sirf andolan karke hi rok sakta hai…

LEAVE A REPLY