इमामों को सैलरी खुदा के मैसज़िस को सुनाते हैं, सही राह दिखाते...

इमामों को सैलरी खुदा के मैसज़िस को सुनाते हैं, सही राह दिखाते हैं (lalu yadav)

148
0
SHARE

Title: Need to implement directions of Supreme Court in regard to salaries and remuneration of Imams of Mosques.

श्री लालू प्रसाद (सारण): अध्यक्ष महोदया, यह सुप्रीम कोर्ट का वर्ष 1993 का जजमेंट है, ऑल इण्डिया इमाम संगठन इल्यासी जी के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट गए थे कि जो सरकार द्वारा एडिड मस्जिदें हैं और उसके अलावा जो दूसरी मस्जिदें हैं, उनके इमामों को सैलरी जो सरकारी एडिड हैं और गैर सरकारी एडिड को रैम्यूनरेशन दिया जाएगा। इस संबंध में सरकार 6 महीने में एक्ट बनाए और इसको इम्पलिमेंट करे। लेकिन यह बहुत दुखद है, दुखदायी है कि देश भर में जो इमाम हैं, खुदा के मैसज़िस को सुनाते हैं, सही राह दिखाते हैं, उन पर सरकार ने अभी तक कोई ध्यान नहीं दिया है। हम चाहते हैं कि सरकार सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अनुसार, इसकी डिटेल में हम नहीं जाना चाहते हैं, हम यह सरकार को दे देंगे। यह कानून 6 महीने में बनाना चाहिए था। मेरी आपके माध्यम से सरकार से आग्रह है कि देश भर की मस्जिदों के जो इमाम हैं, सुप्रीम कोर्ट की भावनाओं का आदर करते हुए, एक कानून बनाए, जिसमें सरकारी एडिड को सैलरी और उसी संदर्भ में जो दूसरे इमाम हैं, उनको रिम्यूनरेशन देने की बात सुप्रीम कोर्ट ने वर्ष 1993 के अपने जजमेंट में दी है, इसका अनुपालन हो। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद कि आपने मुझे बोलने का मौका दिया।…(व्यवधान)
डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह (वैशाली): महोदया, यह बहुत महत्वपूर्ण मामला है…(व्यवधान)

अध्यक्ष महोदया : आप बैठ जाइए और अपना स्वर नीचे रखिए।
…(व्यवधान)
MADAM SPEAKER: Nothing will go on record.

MADAM SPEAKER: If you want to associate, you send your names at the Table.
… (Interruptions)
MADAM SPEAKER: Nothing will go on record except what Shri Semmalai says.
(Interruptions) … *
MADAM SPEAKER: Shri Pratap Singh Bajwa.
… (Interruptions)
SHRI SUDIP BANDYOPADHYAY (KOLKATA UTTAR): Madam, I also want to associate myself on this issue raised by Shri Laluji.
MADAM SPEAKER: All right. Send your name in a slip to the Table.
… (Interruptions)
SHRI PRATAP SINGH BAJWA (GURDASPUR): Madam, this is a very important issue, which is agitating a lot of Ex-servicemen throughout the country… (Interruptions)
MADAM SPEAKER: Hon. Minister, do you want to say something?
           बाजवा जी, अभी आप बैठ जाइए।

THE MINISTER OF STATE OF THE MINISTRY OF CORPORATE AFFAIRS AND MINISTER OF STATE OF THE MINISTRY OF MINORITY AFFAIRS (SHRI SALMAN KHURSHEED): Madam, we are conscious of this issue.  This matter came up. अभी लालू जी ने जिस बात को हमारे संज्ञान में लाने का प्रयास किया है, वह हमारे संज्ञान में है। इसमें लोगों के अलग-अलग विचार हैं, बहुत सारे लोग नहीं चाहते हैं कि इमाम सरकारी नौकरी करे या सरकार से कोई वेतन प्राप्त करे। सभी लोगों की राय लेकर सरकार के सामने जो उचित बात है, वह हम रखेंगे।…(व्यवधान)
श्री लालू प्रसाद : ऑल इंडिया इमाम आर्गनाइजेशन सुप्रीम कोर्ट में गया था…(व्यवधान) उसमें जजमेंट है। इसे जो नहीं लेगा, नहीं लेगा। रेम्यूनरेशन और सैलेरी अन्य मस्जिदों को दे रहे हैं। इस तरह से बातों को टाला नहीं जाना चाहिए। कौन नहीं चाहेगा कि हमें वेतन नहीं मिले।…(व्यवधान)

SHRI SUDIP BANDYOPADHYAY : This is the common demand of theImams  of the country. There is no doubt about it… (Interruptions) सारे देश का इमाम यह चाहता है कि उन लोगों को सरकारी वेतन मिले।…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया: अब आप शात हो जाइए।
…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया: श्री प्रताप सिंह बाजवा जी जो बोलेंगे, केवल वही रिकार्ड में जाएगा, अन्य कुछ रिकार्ड में नहीं जाएगा।

अध्यक्ष महोदया: मुलायम सिंह जी, आप बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
श्री सलमान खुर्शीद: इस पर विचार तो करने दीजिए।…(व्यवधान) आप मेरी बात सुन लीजिए।…(व्यवधान)
संसदीय कार्य मंत्री और जल संसाधन मंत्री (श्री पवन कुमार बंसल):  यह क्या तरीका है, जीरो ऑवर में भी मंत्री जी जवाब दे रहे हैं, फिर भी आप बोल रहे हैं, मंत्री जी की बात को सुन नहीं रहे हैं।…(व्यवधान)
MADAM SPEAKER: Yes, Mr. Pratap Singh Bajwa.
…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया: मुलायम सिंह जी, आप बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
MADAM SPEAKER: Nothing will go on record except what Mr. Bajwa says.
(Interruptions) …*
MADAM SPEAKER: Mr. Minister, if you  have anything to say, please address the Chair.
SHRI  SALMAN KHURSHEED: Madam, may I inform the hon. Members that we are conscious of their concern.  But we have to consider it; we, at least, have to talk to the people concerned.  This is normally the Wakf Board. The State Wakf Boards are responsible for this and the Central Government is not responsible.  Therefore, they must allow us, at least, to consider the entire matter.
MADAM SPEAKER: Yes, Mr. Bajwa, please speak now.
… (Interruptions)
अध्यक्ष महोदया: अब आप बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
MADAM SPEAKER:  Nothing will go on record except what Mr. Bajwa says.
(Interruptions) …*
SHRI PRATAP SINGH BAJWA : Madam, on the issue of One Rank- One Pension, there is a lot of confusion that is prevailing, and I, therefore, wish to draw the attention of the hon. Minister of Defence and also the Government to this very important issue… (Interruptions)
MADAM SPEAKER: Please do not disturb when an hon. Member is speaking.
… (Interruptions)
अध्यक्ष महोदया: श्रीमती विजया चक्रवर्ती जी, आप बैठ जाइए। शून्य-प्रहर चल रहा है, उन्हें बोलने दीजिए।
… (Interruptions)
SHRI PRATAP SINGH BAJWA: It is an important issue which is the sore point.   
… (Interruptions)
MADAM SPEAKER: Nothing will go on record.
(Interruptions) …*
SHRI PRATAP SINGH BAJWA : It is a very important matter.
…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया : आप बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया : आप कैसे खड़े हो गए। आप कृपया बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
श्री लालू प्रसाद : यदि जजमेंट के बारे में ये इस प्रकार से बोलेंगे, तो कैसे काम चलेगा। इस बारे में यदि कुछ कहना चाहते हैं, तो ये सुप्रीम कोर्ट जाएं। यहां क्यों बोल रहे हैं  ? …(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया : आप बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह : अध्यक्ष महोदया, …(व्यवधान)
श्री प्रताप सिंह बाजवा :   डॉक्टर साहेब, यह बहुत महत्वूपर्ण मसला है। सारे देश के एक्स-सर्विसमैन का मसला है।…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया : आप इतनी जोर से क्यों बोल रहे हैं। कृपया बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया : लालू प्रसाद जी, आप कृपया बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया : यह क्या हो रहा है। यह आपस में क्या बातें हो रही हैं। आप सदन में यह क्या कर रहे हैं। आप कृपया बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
श्री मुलायम सिंह यादव (मैनपुरी): अध्यक्ष महोदया, इस विषय में नेता सदन कुछ कहें।
(Interruptions)
MADAM SPEAKER: Nothing is going on record. Nothing will go on record.
(Interruptions) …*
अध्यक्ष महोदया : आप बैठ जाइए। श्रीमती विजया चक्रवर्ती जी आप बैठ जाइए। 
…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया : योगी जी, आप इतने क्रोध में क्यों आ रहे हैं। कृपया आसन ग्रहण कीजिए। आप कृपया बैठिए।
… (Interruptions)
MADAM SPEAKER: Please sit down. Please take your seat.
… (Interruptions)
MADAM SPEAKER: Nothing is going on record.
(Interruptions) …*
SHRI PRATAP SINGH BAJWA : What is wrong with these people?
अध्यक्ष महोदया : कृपया आप बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया : आप कृपया बैठ जाइए। रिकॉर्ड में कुछ भी नहीं जा रहा है। आप कृपया बैठिए।
…(व्यवधान*
अध्यक्ष महोदया :  श्रीमती विजया चक्रवर्ती जी, आप क्यों खड़ी हैं। कृपया बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया : लालू जी आप बैठ जाइए।
…(व्यवधान)
अध्यक्ष महोदया : सदन के नेता कुछ बोलना चाहते हैं। कृपया आप बैठ जाइए।
…(व्यवधान)

THE MINISTER OF FINANCE (SHRI PRANAB MUKHERJEE): The order of the Supreme Court is quite clear, and the Government will take note of the order, direction of the Supreme Court, which is very clear, which has been stated in paragraph six of the judgement, “in the circumstances, etc.,” which they have delivered. The operative part is that ‘the Union of India and the Central Wakf Board will prepare a scheme within a period of six months in respect of different types of mosques, some details of which have been given.’ So, the Government is fully aware of it and it will take appropriate action.  

Also Read:  URBAN VEGETABLE GARDENING SOWING CHART

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY