अच्छे दिन

अच्छे दिन

388
0
SHARE

क्या आपने या आपके बुजुर्ग पिताजी ने भी कभी सोचा भी था की ऐसा दिन आएगा की जब नकली गांधी परिवार रोड पर नारे लगाएगा ?

अगर नही तो आज वो दिन आये हुए हैं ।

क्या यह इस बात को नही बताता की असम्भव को सम्भव करने वाला भारत का प्रधानमन्त्री मोदी  कुछ भी कर सकता है।

दुश्मन का दुश्मन दोस्त होता है।

कांग्रेस लालू मायावती मुलायम नितीश ममता ये सब भारत देश के दुश्मन है या नही ?

क्या ये सब हिंदुत्व के दुश्मन हैं या नही ?

क्या ये सब मोदी के दुश्मन हैं या नही ?

तो मोदी हमारा दोस्त हुआ या नही ?

ध्यान रहे दूध की धूलि कोई भी पार्टी नही है। हर पार्टी में चोर हैं डाकू हैं लुटेरे हैं ।
हमने वोट मोदी जी को दिया था याद है न।

सुषमा स्वराज पर मुझे भी भरोसा नही
वसुंधरा राजे पर मुझे भी भरोसा नही

लेकिन मोदी जी की मजबूरी है की इन नालायको को साथ लेकर चलना पड़ेगा।  मजबूरी में गधे को बाप बनाना पड़ता है न ? वैसे भी इन छोटे चोरो के गुनाह इतने बड़े नही जितने की कांग्रेस जैसी पार्टियो के।

मोदी जी के हम साथ हैं साथ थे और साथ रहेंगे।

क्या आप मोदी जी के साथ हैं ?

लोक सभा में तो बहुमत है लेकिन राज्य सभा में नही जिसका नतीजा आपके सामने है। बिल लोक सभा में पास होगा लेकिन राज्य सभा में नही ।

राज्य सभा के लिए हमे राज्य सरकार भी मोदी जी को बनाकर देनी होंगी वरना 5 साल बीत जाएंगे और कोई बिल पास नही होगा। नतीजा देशद्रोही लोगों की फिर से विजय।

Also Read:  संस्कृत का विरोध संस्कृत के देश में

जब मौका दिया है तो पूरी तरह क्यों नही।
5 साल अगर कुछ किया तो हमारे लिए
और नही किया तो कांग्रेस क्या कुछ करने वाली थी ? और 5 साल कॉंग्रेस्स के समझ लेंगे।

बस यह किसी भी पोलिटिकल पार्टी को आखरी मौका है। उसके बाद सिर्फ जन आंदोलन।

जय हिन्द जय भारत

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY